School!!//पाठशाला!!

बना लेते हैं यूंही तिनके बटोरकर परिन्दें घरौन्दा

घरौन्दे बनाने की कारीगरी यह किससे सीखते हैं,

देखा है हमने बिना बोई दूबडी घास का जाल

कौन है वह काश्तकार जो जंगली घास सींचते हैं,

दरियाओं के उफान पर डूबते उतरते हैं तिनके

पानी में तैरते यह तिनके किससे तैरना सीखते हैं,

मौसमी तूफान उजाड देते हैं अक्सर ही बस्तियां

खूंटे पर बंधे हुए बेबस पशु किससे बचाव सीखते हैं,

सचमुच बहुत कठिन है बच्चों को पालना पोसना

जंगली जानवर किससे बच्चों को पालना सीखते हैं,

सच है कि आवश्यकता ही है आविष्कार की जननी

अंडे से निकलते ही मुर्गी के सभी चूजे दाना बीनते हैं,

आसानी से सभी किस्म की जमीन में रेंग लेता है सर्प

रेशमी धागे जैसे महीन संपोले किससे रेंगना सींखते हैं,

काफी दिनों से खोज रहा हूं वह प्राकृतिक पाठशाला

जीव जन्तु जिसमें पढकर जिन्दगी को जीना सीखते हैं।।

School!!

Let’s make it 
The workmanship of the house, from whom do they learn, 
We have seen that without a bear 
Who is the tenant who weaves the wild grass, 
Sinking straws on the boom of rivers 
Whilst swimming in water, who learn to swim with this straw, 
Seasonal storms give off only settlements often 
Who are the untamed animals tied to the pegs to learn to defend, 
It is really difficult to cure the babies 
Whose wild animals learn to cure children, 
True, the necessity is the mother of invention 
All chicken peas are harvested as soon as they are released from the egg, 
Snake creeps easily into all kinds of land 
The silky threads, such as who are creep, 
Natural School 
Animal organisms that learn to live and live life.
“PKvishvamitra”

Advertisements

17 thoughts on “School!!//पाठशाला!!”

  1. बहुत अच्छी और वास्तविकता का प्रतिबिम्ब है आपकी कविता 😊मैने भी कुछ वाक्य उत्साह मे लिख दिया…

    प्रकृति की यही करीगरी तो आश्चर्य मे डालती है।
    जीवन जीने का सलीका पशु, पक्षियों और वनस्पतियों
    को पता नही कैसे सिखाती है ।
    हम इंसान होकर हमेशा इन्हीं पर निर्भर रहते हैं।
    फिर भी सबसे अक्लमंद होने का दर्प रखते हैं।

    Liked by 1 व्यक्ति

  2. पिंगबैक: Mystery Blogger Award (3)

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s