Do not make//मत बनाओ!!

For the sake of chicks press Dana Dunka in the beak 

Do not make candies go away, 

Truly the heart breaks down and sees the corpses 

Do not make childhood childhood as a national dish, 

Will write tomorrow all this nunihal our history 

Do not make the paper rig out of death, 

This plant will be made only tomorrow 

Do not whack out of their delicate white skin, 

Shoulder shoulder to carry his burden 

Do not make them thorny roses, 

Seeing the bright moon stars will learn it 

Do not make them landed by understanding your understanding, 

The wings are fluttering and the status of the wings 

Do not make any boundary wall on the open sky chest, 

How long will it eat from a mother’s beak to beak 

Do not resort to old age in your fanfare.

चूजों की खातिर चोंच में दाना दुनका दबाये

उडे चले जा रहे परिन्दों को निवाला मत बनाओ,

सचमुच दिल टूटकर बिखरता है देखकर लाशें

दूधमुंहे बचपन को यूं सियासी बिसात मत बनाओ,

लिखेंगे कल यही सब नौनिहाल हमारा इतिहास

कागज की किश्ती को मौत का सामान मत बनाओ,

यह पौध ही बनेगी आने वाले कल की नवबहार

इनकी नाजुक सी चमडी उधेडकर चाबुक मत बनाओ,

अपना बोझ ढोने के लिए चाहिए ताकतवर कंधे

पाने दो तो सही कद इन्हें कंटीली झाडियां मत बनाओ,

चमकते चांद सितारे देखकर सीखेंगे यह उचकना

अपनी समझ लादकर इन्हें जमीनी गडढे मत बनाओ,

पंख फडफडाकर तौलते हैं यह पंखों की हैसियत

खुले आसमान के सीने पर कोई चारदीवार मत बनाओ,

मां की चोंच से लेकर चोंच में यह खायेंगे भी कब तक

अपनी चाहत के झांसे में बुढापे का सहारा मत बनाओ।।

“Pkvishvamitra”



Advertisements

One thought on “Do not make//मत बनाओ!!”

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s